Trulli Trulli Trulli Trulli Trulli

क्या जालंधर के मेयर जगदीश राजा को भी पार्टी से निकालेगी कांग्रेस? Ex MLA राजिंदर बेरी की शिकायत पर कब होगा एक्शन?

Trulli

क्या जालंधर के मेयर जगदीश राजा को भी पार्टी से निकालेगी कांग्रेस? Ex MLA राजिंदर बेरी की शिकायत पर कब होगा एक्शन?

Jalandhar News: जालंधर नगर निगम के साथ साथ जालंधर कांग्रेस में घमासान मच गया है। डिप्टी मेयर हरसिमरनजीत सिंह बंटी के इस्तीफे के बाद अब सबसे बड़ा सवाल मेयर जगदीश राजा के इस्तीफे को लेकर है। क्योंकि जिस तरह से जालंधर वेस्ट के पूर्व विधायक सुशील रिंकू ने डिप्टी मेयर बंटी के खिलाफ शिकायत दी थी, जालंधर सैंट्रल हलके के पूर्व विधायक राजिंदर बेरी ने भी मेयर जगदीश राजा के खिलाफ पार्टी हाईकमान को शिकायत दी हुई है।

विधानसभा चुनाव में कांग्रेस ने जालंधर की दो सीटें हार गई। जालंधर सैंट्रल हलके से राजिंदर बेरी महज 148 वोटों से हार गए। चुनाव में मेयर जगदीश राजा और उनके साथ कुछ कौंसलरों ने राजिंदर बेरी का खुलेआम विरोध किया। जिससे राजिंदर बेरी चुनाव हारे तो सीधे पार्टी हाईकमान को शिकायत दे दी। इसमें मेयर जगदीश राजा के साथ कुछ कौंसलरों ने राजिंदर बेरी का खुलेआम विरोध किया था।

कुछ ऐसा ही जालंधर वेस्ट हलके के सुशील रिंकू के साथ हुआ। सुशील रिंकू को लग रहा है कि डिप्टी मेयर और उनके गुट के कौंसलरों ने इलेक्शन में साथ नहीं दिया, जिससे रिंकू चुनाव हार गए। इसके बाद रिंकू ने पार्टी हाईकमान से शिकायत कर दी। पार्टी हाईकमान कोई एक्शन लेता, इससे पहले ही डिप्टी मेयर हरसिमरनजीत सिंह बंटी ने पार्टी से इस्तीफा दे दिया। हालांकि डिप्टी मेयर बंटी ने पार्टी हाईकमान से सुशील रिंकू की ही शिकायत की है।

अब जब कांग्रेस ने डिप्टी मेयर हरसिमरनजीत सिंह बंटी को इस्तीफे के बाद पार्टी से 6 साल के लिए निष्कासित कर दिया है, तो मेयर जगदीश राजा को लेकर चर्चाएं शुरू हो गई। सूत्र बता रहे हैं कि पूर्व विधायक राजिंदर बेरी ने पार्टी हाईकमान से मांग की है कि मेयर जगदीश राजा समेत उन कौंसलरों पर कार्ऱवाई की जाए, जिन्होंने इलेक्शन के दौरान खुलेआम कांग्रेस का विरोध किया था।

जिससे अब जालंधर कांग्रेस में नई चर्चा शुरू हो गई। चर्चा यह है कि क्या राजिंदर बेरी की कांग्रेस हाईकमान में सुनवाई नहीं हो रही है, या फिर मेयर जगदीश राजा को बचाया जा रहा है। क्योंकि डिप्टी मेयर से ज्यादा शिकायत मेयर जगदीश राजा की हुई। बावजूद जगदीश राजा को अभी तक पार्टी से बाहर नहीं निकाला गया है।

Trulli